Disel Auto Mahasangh

आरटीए सचिव के फरमान पर प्रदेश डीजल ऑटो चालक महासंघ ने दी प्रतिक्रिया- सबसे पहले ऑटो चालक ही बनते हैं निशाना

राँची

रांची : आरटीए सचिव के बयान कि बिना परमिट के ऑटो शहर में नहीं चलेंगे, पर झारखंड प्रदेश डीजल ऑटो चालक महासंघ के संस्थापक दिनेश सोनी, प्रदेश अध्यक्ष रामकुमार सिंह, प्रदेश सचिव आकाश भारती, रांची जिलाध्यक्ष महेश सिंह ने संयुक्त बयान जारी कर कहा है कोई भी फरमान पहले ऑटो चालकों के लिए ही आता है.

ऑटो का रजिस्ट्रेशन शहर में हैं, उन सब को बाहर का परमिट लेना अनिवार्य

महासंघ ने कहा है कि परिवहन विभाग द्वारा रांची शहर में डीजल पेट्रोल सीएनजी ऑटो बिना परमिट के ऑटो शहर में नहीं चलेंगे का फरमान जारी किया है. साथ ही जो भी ऑटो का रजिस्ट्रेशन शहर में हैं उन सब को बाहर का परमिट लेना अनिवार्य होगा. जबकि रांची शहर में किसी चीज को बंद करने की योजना आती है तो परिवहन विभाग और यातायात विभाग ऑटो पर ही नियम लगाने का प्रयास करते हैं.

धड़ल्ले से चल रहे सीटी राइड, क्या बिना डीजल के चलते हैं

पूरे रांची शहर में धड़ल्ले से शहर के बीचो बीच पॉल्यूशन छोड़ते हुए सिटी राइड बस का परिचालन किया जा रहा है तो क्या वह सब वाहन डीजल में नहीं आता है या वह सब परमिट धारी सिटी राइड बस का परिचालन हो रहा है कि नहीं हो रहा है. यह सब परिवहन विभाग को या यातायात विभाग को नहीं दिख रहा है और जिस टाइप से आरटीए सचिव का बयान आया है उस बयान को देखते हुए रांची शहर के सभी बिना परमिट वाले ऑटो चालकों का ऑटो का परिचालन कैसे हो.

12 अक्टूबर को बैठक में आनेवाली समस्या पर होगी चर्चा

जितना भी सीएनजी और पेट्रोल ऑटो का रजिस्ट्रेशन हुआ है उन सबको परमिट कैसे मिले, ताकि जो समस्या ऑटो चालकों के ऊपर आने वाला है इन्हीं सब समस्याओं को देखते हुए दिनांक 12 अक्टूबर 2022 को स्थान ड्यूक मेंशन लाइन टैंक रोड कार्यालय में समय 12:00 बजे एक अहम बैठक रखी गई है. इस बैठक में महासंघ के जो भी प्रदेश पदाधिकारी, जिला पदाधिकारी, मार्ग पदाधिकारी हैं उन सभी साथियों से अनुरोध है कि बैठक के समय पर उपस्थित होंए ताकि ऑटो चालकों के समस्याओं को निदान कर सके. बैठक की जानकारी प्रदेश सचिव आकाश भारती ने दी है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *