Pension Payment Case

सैनिक मार्केट में दुकान आवंटन मामले में हाई कोर्ट ने कहा- गड़बड़ी से राज्यपाल को अवगत कराएं  

राँची

सैनिक मार्केट (Sainik Market) के दुकानदार भागवत प्रसाद की याचिका पर सुनवाई करते हुए झारखंड हाई कोर्ट के न्यायाधीश जस्टिस केपी देव की अदालत ने आदेश दिया कि सैनिक कल्याण निदेशालय रांची के अधीन सैनिक मार्केट में दुकानों के आवंटन एवं उसके संचालन को लेकर हो रही गड़बड़ी से राज्यपाल को अवगत कराएं. साथ ही डायरेक्टर जनरल ऑफ रिहैबिलिटेशन नई दिल्ली को भी पार्टी बनाने का आदेश दिया है.

अगली सुनवाई 14 दिसंबर को

सैनिक मार्केट (Sainik Market) मामलेमें कोर्ट ने अगली सुनवाई की तिथि 14 दिसंबर मुकर्रर की है. इस मामले में याचिकाकर्ता के अधिवक्ता नवीन कुमार हैं. सैनिक कल्याण निदेशालय रांची ने याचिकाकर्ता भागवत प्रसाद को नोटिस जारी कर दुकान खाली करने का आदेश दिया था. इसके बाद उन्होंने हाई कोर्ट का दरवाजा खटखटाया. हाई कोर्ट के जस्टिस केपी देव की अदालत ने सुनवाई करते हुए फिलहाल दुकान खाली करने पर रोक लगा दी थी.

भागवत प्रसाद की याचिका में कहा गया- मार्केट का दुरुपयोग हो रहा

हाई कोर्ट में दायर भागवत प्रसाद की याचिका में कहा गया है कि सैनिक कल्याण निदेशालय में सब कुछ एक 85 वर्षीय व्यक्ति के ऊपर निर्भर है. वह वर्षों से सैनिकों के कल्याण के लिए बनाए गए मार्केट का दुरुपयोग कर रहे हैं. कई दुकानें सैनिकों को ना देकर अन्य लोगों को आवंटित की गयी है. इसका रोटेशन भी रुका हुआ है, जिसकी वजह से कई सैनिकों को उनका हक नहीं मिल रहा.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *