Priyanka Chopra

प्रियंका चोपड़ा लखनऊ में, अवंतीबाई अस्पताल का लिया जायजा

मनोरंजन

यूनिसेफ की गुडविल एम्बेसडर एवं फिल्म अभिनेत्री प्रियंका चोपड़ा (Priyanka Chopra) जोनस मंगलवार को वीरांगना अवंती बाई बाल एवं महिला चिकित्सालय (डफरिन) अस्पताल पहुंचीं. दो दिवसीय दौरे पर लखनऊ पहुंचीं प्रियंका ने पहले दिन सोमवार को लोकबंधु अस्पताल और यूनिसेफ आफिस का भी दौरा किया था.

प्रियंका चोपड़ा (Priyanka Chopra) यूनिसेफ की टीम के साथ डफरिन अस्पताल के प्रशासनिक भवन पहुंचीं

प्रियंका चोपड़ा (Priyanka Chopra)  के आने की खबर मिलते ही डफरिन में मंगलवार सुबह से ही कर्मचारियों एवं स्टॉफ की भागदौड़ लगी रही. भवन को गमलों और गुलदस्तों से सजाया गया था. प्रियंका यूनिसेफ की टीम के साथ डफरिन अस्पताल के प्रशासनिक भवन पहुंचीं.

पूजा के बेटे और लखीमपुर की अमीना की बेटी का हालचाल लिया

यहां से प्रियंका चोपड़ा (Priyanka Chopra) चिकित्सकों की टीम के साथ सबसे पहले ट्राइएज में पहुंचीं, जहां बच्चों को इमरजेंसी में लाया जाता है. एनआईसीयू में भी प्रियंका पहुंचीं, जहां लखनऊ में रहने वाली पूजा के बेटे और लखीमपुर की अमीना की बेटी का हालचाल लिया. इसके बाद प्रियंका कंगारू मदर केयर यूनिट पहुंचीं. यहां पर चार महिलाएं अपने बच्चों को सीने से चिपका कर लेटी हुईं थी.

बच्चों के वैक्सीनेशन सेंटर में जानकारी ली

मौके पर मौजूद बाल रोग विशेषज्ञ डॉक्टर सलमान ने उन्हें बताया कि कई बच्चे ऐसे होते हैं जिनका वजन बहुत कम होता है. माताएं अपने बेटे को छाती पर चिपका कर शरीर से गर्मी देती हैं. इस प्रक्रिया को कंगारू मदर केयर कहा जाता है. एनआईसीयू में उनकी देखरेख और कंगारू मदर केयर (केएमसी) के जरिए बच्चों के शारीरिक एवं मानसिक विकास में मदद मिलती है. उसके बाद प्रियंका बच्चों के वैक्सीनेशन सेंटर में गईं और वहां पर वैक्सीनेशन के मानक और वैक्सीनेशन के बारे में जानकारी ली.

प्रियंका चोपड़ा (Priyanka Chopra) के आगमन को लेकर विरोध भी शुरू हो गया और कई जगह पोस्टर भी लगाए गए थे, जिस पर लिखा हुआ है कि नवाबों के शहर में आपका स्वागत नहीं है. ये विरोध क्यों हो रहा है इसका कोई सही कारण अभी स्पष्ट नहीं हो सका है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *