nitin gadkari

नितिन गडकरी ने किया पंडुका पुल निर्माण का शिलान्यास, बोले- बिहार के विकास के लिए केंद्र अग्रसर  

बिहार

केंद्रीय सड़क परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने नौहट्टा प्रखंड क्षेत्र के बहुप्रतीक्षित पंडुका पुल निर्माण का शिलान्यास कार्यक्रम का शुभारंभ दीप जलाकर किया. इस मौके पर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव व अन्य नेता उपस्थित थे.

पुल के बनने से आस-पास के क्षेत्रों को लाभ

केन्द्रीय मंत्री गडकरी ने कहा कि पंडुका क्षेत्र में इस पुल के बनने से आस-पास के क्षेत्रों को लाभ होगा और औद्योगिक, कृषि एवं डेयरी उत्पाद की बाजार तक पहुंच आसान होगी. इससे समय और ईंधन की भी बचत होगी. उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में बिहार की समृद्धि और विकास को सुनिश्चित करने की दिशा में केंद्र सरकार निरंतर अग्रसर है.

बिहार की सड़क अमेरिका की सड़क से भी अच्छी होगी

नितिन गडकरी ने कहा कि बिहार की सड़क अमेरिका की सड़क से भी अच्छी होगी. उन्होंने कहा कि जो मैं बोलता हूं वो 100 प्रतिशत होता है. मैं तेजस्वी जी से आग्रह करता हूं कि रोड के साथ-साथ आप जलमार्ग के प्रोजेक्टों पर तेजी से काम करें. जलमार्ग का सफर कम खर्चीला होता है.

विकास के कामों में राजनीति नहीं करता

उन्होंने कहा कि मैं विकास के कामों में राजनीति नहीं करता हूं. यह देश हमारा है. इसका विकास होगा तो पूरे देश का विकास होगा. उन्होंने तेजस्वी यादव से कहा कि आप मुझसे दिल्ली में आकर अपने राज्य के सारे प्रोजेक्ट को लेकर मिलो, मैं सभी प्रोजेक्ट के लिए आपको मदद करुंगा.

किसान केवल अन्नदाता न होकर ऊर्जा दाता बनें

उन्होंने कहा कि इस क्षेत्र को धान का कटोरा कहा जाता है. इस क्षेत्र और देश का किसान केवल अन्नदाता न होकर ऊर्जा दाता बनें. धान की मुसल (फली) से मैं अपने यहां 80 मेगावॉट बिजली का उत्पादन कर रहा हूं. देश का पहला मेरा ट्रैक्टर बायो-सिए डीजल पर चलता है.

पेट्रोल-डीजल को इस देश से निकाल देना है

मेरे जीवन का सपना है कि पेट्रोल-डीजल को इस देश से निकाल देना है. बजाज कंपनी की स्कूटर जो इथेनॉल पर चलती है. चावल से इथेनॉल होगा तो इनके चावल को अच्छा भाव मिलेगा. कैमरी गाड़ी इथेनॉल पर चलती है. मिराई गाड़ी हाईड्रोजन पर चलती है, मेरी गाड़ी है जो पानी से तैयार है.

16 लाख करोड़ का पेट्रोल-डीजल आयात होता है

गडकरी ने कहा कि देश में 16 लाख करोड़ का पेट्रोल-डीजल आयात होता है. इससे हमें मुक्ति मिलेगी तो यह देश खुशहाल हो जायेगा. चार से पांच लाख करोड़ रुपये किसानों के पास जायेंगे. उन्होंने कहा कि 65 प्रतिशत आबादी गांवों में रहती है इसलिए वहां सारी सुविधाएं होनी चाहिए, जिससे गांवों की ओर युवा लौटें. इससे पलायन रुकेगा.

विकास का दूसरा नाम नितिन गडकरी : तेजस्वी

इससे पहले कार्यक्रम को संबोधित करते हुए उप मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने कहा कि लोगों को अधिक से अधिक सुविधा कैसे मिले, इसके लिए सरकार को कार्य करना है. उन्होंने कहा कि विकास का दूसरा नाम नितिन गडकरी है. ये पार्टी नहीं, विकास को देखते हैं.

विचारधारा कुछ भी हो, कार्य करनेवाले का गुणगान होता ही है

तेजस्वी ने कहा कि विचारधारा कुछ भी हो, किंतु कार्य करने वाले का गुणगान होता ही है. हमने इनसे बहुत कुछ सीखा है. इनके कार्यकाल में 53 आरओबी की बाधा दूर हुई है. उन्होंने मांग कि पूर्वांचल एक्सप्रेस को भागलपुर तक किया जाए. साथ ही कच्ची दरगाह से पटना एम्स तक एलिवेटेड सड़क दी जाए, ताकि जाम की समस्या से पटना को मुक्ति मिले.

50 लाख से अधिक की आबादी को होगा लाभ

पांडुका पुल निर्माण से दोनों राज्यों (बिहार-झारखंड) के 50 लाख से अधिक की आबादी को सीधा लाभ मिलेगा. रोहतास जिला अंतर्गत प्रस्तावित पुल राज्य के पंडुका से अकबरपुर एनएच-119 तक तथा दूसरा झारखंड राज्य के गढ़वा जिला के श्रीनगर कांडी होते हुए नगर उंटारी एनएच-39 जुड़ जाएगा. इससे बिहार, झारखंड, छत्तीसगढ़ व उत्तर प्रदेश के बीच भारी वाहनों का परिचालन सुगम हो जाएगा.

पुल से झारखंड के गढ़वा, पलामू, लातेहार को भी फायदा

नौहट्टा और रोहतास प्रखंड से झारखंड के गढ़वा, पलामू, लातेहार सहित अन्य जिलों की दूरी करीब 120 किमी कम हो जायेगी. पंडुका पुल के रास्ते लोग छत्तीसगढ़ राज्य के बलरामपुर जिले के रामानुज गंज बाजार 99 किलोमीटर की दूरी तय कर पहुंचेंगे. फिलहाल 220 किलोमीटर की दूरी तय करनी पड़ती है. वहीं पंडुका पुल से उत्तर प्रदेश के सोनभद्र जिले का बॉर्डर 13 किलोमीटर बाद पड़ेगा, जो फिलहाल घूमकर जाने पर 170 किलोमीटर की दूरी तय करनी पड़ती है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *