Naxalites pasted posters

जमशेदपुर में तीन जगहों पर नक्सलियों ने चिपकाये पोस्टर, पुलिस ने जब्त किया

पूर्वी सिंहभूम

जमशेदपुर : पुलिस ने कमलपुर थाना क्षेत्र में भाकपा (माओवादी) द्वारा चस्पा किए गए पोस्टर को ओड़िया पंचायत के बनडीह मोड़ पर दो और काशमार पंचायत के काश्मार गांव से बरामद किया है. यह बंगाल–झारखंड (Bengal-Jharkhand) का सीमावर्ती इलाका है. पोस्टर में लाल स्याही से बंगला भाषा में लिखा है. हालांकि, पुलिस का मानना है कि यह किसी शरारती तत्व का काम भी हो सकता है.

तीन अलग- अलग क्षेत्रों में मिला पोस्टर

पोस्टर तीन अलग- अलग क्षेत्रों में मिला है. सभी बंगला भाषा में लिखे गए है. एक पोस्टर में लिखा गया है कि भाकपा माओवादी की ओर से आगामी 10 नवंबर को बंद बुलाया गया है और उसका पालन करने के लिए आमलोगों से अपील की गयी है. माओवादियों ने गणतंत्र की रक्षा के लिए संगठन से जुड़ने की भी अपील की है और पूंजीवाद दूर करने के लिए एकजुट होने की अपील करते हुए उनके मौजूद होने का अहसास कराया गया है.

दूसरे पोस्टर में लिखा- डरने की जरूरत नहीं, हमलोग आ चुके

दूसरे पोस्टर में लिखा है कि डरने की जरूरत नहीं है. हमलोग आ चुके हैं. इसलिए अब सभी घरों में सीपीआई का राज चलेगा. किसी को आपत्ति होने पर हाथ पैर काट दिया जाएगा. लाल सलाम. 10 नवंबर को झारखंड और बंगाल बंद का पालन करें.

पुलिस का मानना है – यह किसी शरारती तत्व का काम

तीसरे पोस्टर में लिखा गया है कि हमारे नेता किशनजी की मौत का बदला चाहिए. वर्तमान सरकार के कर्मचारी भ्रष्टाचार कर रहे हैं. हमारे धैर्य की सीमा पार हो रही है. आपलोग क्या सोच रहे हैं कि माओवादी भाग गया है. यह आपकी बड़ी भूल है. इस बार खेला होबे. कहावत है न, जिसकी लाठी उसकी भैंस और देखते हैं किसकी जीत होती है, लाल सलाम.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *