Chambar Ranch

केंद्रीय भू-जल प्राधिकरण की ओर लागू किये जा रहे कानून रद्द हो – चैंबर

राँची

केंद्रीय भू-जल प्राधिकरण द्वारा निर्गत सूचना जिसके तहत भू-जल के समस्त उपयोगकर्ताओं (जो इस निर्देश की परिधि में आते हैं) को सीजीडब्ल्यूए से भू-जल निकालने के लिए अनापत्ति प्रमाण पत्र लेने तथा इसकी अंतिम तिथि 30.09.2022 निर्धारित किये जाने से भी व्यापार जगत के बीच बन रही अनिश्चितताओं को देखते हुए आज झारखण्ड चैंबर ऑफ कॉमर्स द्वारा प्राधिकरण के अध्यक्ष को पत्राचार किया गया.

महामारी की चुनौतियों के बाद पटरी पर लौट रही अर्थव्यवस्था

चैंबर अध्यक्ष किशोर मंत्री ने कहा कि ऐसे समय में जब कोविड महामारी की चुनौतियों से निपटने के उपरांत देश की अर्थव्यवस्था पटरी पर वापस लौटने की दिशा में अग्रसर है, के दौरान एक अतिरिक्त कानून लागू करने से लोगों (विषेषकर स्टेकहोल्डर्स) पर एक अतिरिक्त कंप्लायंस बर्डेन होगा, जिसकी समीक्षा आवश्यक है.

एक अतिरिक्त कानून कंप्लायंस बर्डेन होगा, समीक्षा आवश्यक

ईज ऑफ डूईंग बिजनेस की अवधारणा के अनुरूप केंद्र सरकार द्वारा भी नियमित रूप से कानूनी जटिलताओं का सरलीकरण करने के साथ ही आज के परिप्रेक्ष्य में अनावशयक हो चुके कानूनों को समाप्त करने की दिशा में नित्य नये प्रयास किये जा रहे हैं,

जिसके साकारात्मक परिणाम भी देखे जा रहे हैं. वर्तमान परिप्रेक्ष्य में यह कानून औचित्यहीन है तथा यह लोगों पर कंप्लायंस का एक अतिरिक्त भार होगा, जिसपर पुनर्विचार करते हुए इस कानून को शिथिल करना उपयुक्त होगा.

प्राधिकरण के उक्त निर्देश का अधिकाधिक प्रचार-प्रसार नहीं होने के कारण भी अधिकांश लोग इस निर्देश से अवगत नहीं हैं. यह आग्रह किया गया कि प्राधिकरण के इस निर्देश को तत्काल रूप से रद्द करने की पहल करें. यदि यह कानून आवष्यक हो, तब इससे पूर्व लोगों को जागरूक करने की पहल की जाय.

दोनों ही मुद्दों पर चैंबर भवन में एक बैठक

विदित हो कि उक्त दोनों ही मुद्दों पर आज चैंबर भवन में एक बैठक भी की गई. बैठक में लिये गये निर्णयों के आधार पर पत्राचार निर्गत कर समस्याओं के समाधान का आग्रह किया गया. बैठक में चैंबर अध्यक्ष किशोर मंत्री, उपाध्यक्ष आदित्य मल्होत्रा, अमित शर्मा, सह सचिव रोहित पोद्दार, शैलेश अग्रवाल, कोषाध्यक्ष सुनील केडिया, प्रवक्ता ज्योति कुमारी, पूर्व अध्यक्ष मनोज नरेडी, सदस्य प्रमोद सारस्वत उपस्थित थे.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *