Kartik Purnima 2022

कार्तिक पूर्णिमा और ग्रहण को लेकर गंगा स्नान करने उमड़ा जनसैलाब

बिहार

कार्तिक पूर्णिमा के अवसर पर स्नान करने के लिए मंगलवार को गंगा घाटों पर जनसैलाब उमड़ पड़ा. बेगूसराय में सबसे अधिक भीड़ बिहार के एकलौते कल्पवास स्थल और आदि कुंभ स्थली सिमरिया गंगा धाम में जुटी.

 देश के विभिन्न राज्यों और विदेशी श्रद्धालुओं का उमड़ा सैलाब

 यहां बेगूसराय और बिहार ही नहीं, देश के विभिन्न राज्यों और विदेशी श्रद्धालुओं का सैलाब उमड़ पड़ा. जिसके कारण अहले सुबह से ही बरौनी जीरोमाइल से लेकर सिमरिया पुल और पुल के पार हाथिदह तक एनएच-31 पर वाहन तो दूर पैदल चलना भी मुश्किल था.

झारखंड और उत्तर प्रदेश के साथ नेपाल से भी बड़ी संख्या में श्रद्धालु पहुंचे

पूर्णिमा और ग्रहण के मौके पर गंगा स्नान कर शारीरिक, मानसिक सुख और मोक्ष की कामना के साथ रात से बिहार, बंगाल, आसाम, झारखंड और उत्तर प्रदेश के साथ नेपाल से भी बड़ी संख्या में श्रद्धालु पहुंच गए थे. जिसके बाद रात दो बजे से ही हर हर गंगे के जयकारा के बीच श्मशान घाट से रामघाट तक शुरू स्नान का सिलसिला लगातार जारी है.

पांच लाख से अधिक श्रद्धालुओं के गंगा स्नान करने का अनुमान

इस दौरान पांच लाख से अधिक श्रद्धालुओं के गंगा स्नान करने का अनुमान लगाया जा रहा है. गंगा स्नान के बाद पौराणिक समय से चले आ रहे दान और पूजा की परंपरा के तहत श्रद्धालुओं ने बड़े पैमाने पर सिमरिया धाम के सभी मंदिरों में पूजा-अर्चना तथा गुरु पूजन किया. इस मौके पर सर्वमंगला सिद्धाश्रम में भी श्रद्धालुओं की भारी भीड़ लगी रही.

सुरक्षा के व्यापक बंदोबस्त किए गए

गंगा स्नान के लिए उमड़ने वाली भीड़ के मद्देनजर सुरक्षा के व्यापक बंदोबस्त किए गए थे. एनएच के सभी चौक चौराहों पर जहां पुलिस बल की व्यवस्था थी, वहीं राजेन्द्र पुल स्टेशन से लेकर गंगा घाट तक कदम कदम पर पुलिस बल तैनात किए गए थे. जिला प्रशासन और पुलिस प्रशासन के अधिकारी खुद सुरक्षा व्यवस्था संभाले हुए थे, जबकि डीएम और एसपी पल-पल की गतिविधि पर नजर रख रहे थे.  

सभी वाच टावर से घाटों की निगरानी की जा रही थी. वहीं, मोटर बोट से एसडीआरएफ एवं डीडीआरएफ के गोताखोर अनिल कुमार सहित पूरी टीम लगातार लोगों को जागरूक करते रहे. इस मौके पर सर्वमंगला सिद्धाश्रम में श्रद्धालुओं को संबोधित करते हुए स्वामी चिदात्मन जी ने कहा कि गंगा सदैव से मोक्ष दायिनी रही है और मोक्षदायिनी रहेगी.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *